CMOS

CMOS  “Complementary metal-oxide semiconductor के लिए है। यह इंटीग्रेटेड सर्किट बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तकनीक है। CMOS सर्किट कई प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक घटकों में पाए जाते हैं, जिनमें माइक्रोप्रोसेसर, बैटरी और डिजिटल कैमरा इमेज सेंसर शामिल हैं।

CMOS में “MOS” एक CMOS घटक में transistors को संदर्भित करता है, जिसे एमओएसएफईटी (metal oxide semiconductor field-effect transistors) कहा जाता है। नाम का “metal” हिस्सा थोड़ा भ्रामक है, क्योंकि आधुनिक MOSFETs अक्सर प्रवाहकीय सामग्री के रूप में एल्यूमीनियम के बजाय polysilicon का उपयोग करते हैं।

प्रत्येक MOSFET में दो टर्मिनल (“source” and “drain”) और एक गेट शामिल होता है, जो transistor के शरीर से अछूता रहता है। जब गेट और बॉडी के बीच पर्याप्त वोल्टेज लगाया जाता है, तो स्रोत और drain terminals के बीच electronsप्रवाहित हो सकते हैं।

CMOS

CMOS का “complimentary” भाग दो different प्रकार के अर्धचालकों को संदर्भित करता है जिनमें प्रत्येक transistor होता है – N-type और P-type। N-type के semiconductors में छिद्रों की तुलना में electrons की अधिक सांद्रता होती है, या वे स्थान जहाँ एक electrons मौजूद हो सकता है। P-type के अर्धचालकों में electrons की तुलना में छिद्रों की सांद्रता अधिक होती है। ये दो semiconductors एक साथ काम करते हैं और सर्किट के designed के आधार पर logic gates बना सकते हैं।
CMOS Advantages

CMOS transistors विद्युत शक्ति के कुशल उपयोग के लिए जाने जाते हैं। जब वे एक state to another राज्य में बदल रहे हों, तब उन्हें छोड़कर उन्हें किसी विद्युत प्रवाह की आवश्यकता नहीं होती है। इसके अतिरिक्त, मानार्थ semiconductors output voltage को सीमित करने के लिए एक साथ काम करते हैं।

परिणाम एक low-power वाला design है जो न्यूनतम गर्मी देता है। इस कारण से, CMOS ट्रांजिस्टर ने अन्य पिछले डिज़ाइनों (such as CCDs in camera sensors) को बदल दिया है और अधिकांश आधुनिक processors में उपयोग किया जाता है।

नोट: कंप्यूटर में CMOS memory एक प्रकार की non-volatile रैम (NVRAM) है जो BIOS सेटिंग्स और date/time की जानकारी संग्रहीत करती है।

Leave a comment